हर एक लम्हे का दाम बहुत ज़्यादा है : Hindi Kavita Shayari

Hindi Kavita : वक़्त बहुत कम है और काम बहुत ज़्यादा है। हर एक लम्हे का दाम बहुत ज़्यादा है????. मैं कविता आपके लिए एक बार फिर लेकर आई हूँ दिल को छु जाने वाली hindi kavita. यदि आपको अच्छी लगे तो इसे facebook, whatsapp पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे.

 

वक़्त बहुत कम है और काम बहुत ज़्यादा है।
हर एक लम्हे का दाम बहुत ज़्यादा है????

खुल के हँसने की जब याद कभी आए तो याद कर लेना हम आएंगे ये दोस्त तुमसे वादा है।????✌????????

वक़्त बहुत कम है ????और करने को ढेर सारी बातें है।
नींद उडी हुयी है क्योंकि आजकल खामोश ये रातें है।

हमारे रिश्ता मीठा भी है???? तो थोड़ी सी कड़वाहट है।
कहाँ नहीं होती लड़ाइयां आखिर? ☹ये भी तो एक तरह की चाहत है।।✌????

अब तो बस इक मुहब्बत ❤का आलम ही राहत है।
तुम्हें बताने से डरता हूँ पर तुमसे ही तो चाहत है।।????

कल शायद हम साथ होंगे नहीं।????
कल शायद हमारी बात होगी नहीं ।।☹

ये साथ हमारा यहाँ तक बहुत प्यारा था ।❤????
हर ख़ुशी मेरी तुम्हारी थी और हर आंसू तुम्हारा मेरा था।।????????

मेरे जाने के बाद मुझे जरूर याद करोगे।????
पर देर कर दोगे क्योंकि ये मेरे जाने के बाद करोगे।।????????

जाने के बाद भी याद आया करूँगा।????
असलियत मैं न सही सपनो मैं ही तुझको मनाया करूँगा।।????

याद तुझको मैं भी हर दिन करूँगा,????????
तुझसे बात किये बिना मैं एक पल मैं सौ बार मारूँगा।। ????????

पर इसके बाद भी मैं खुद मुस्कुराउंगा,????????????????
और तेरे चेहरे पर हमेशा रहे ऐसी हँसी छोड़ जाऊंगा।।????????

 

Updated: January 5, 2018 — 3:20 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shayari In Hindi © 2018 Frontier Theme
%d bloggers like this: